IAS क्या है और आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) कैसे बने पूरी जानकारी

How to Become IAS Officer In Hindi मतलब इस article में हम पढेंगे आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) कैसे बने अपनी सरल भाषा हिंदी में.

आपके मन में सवाल आते होंगे की आईएएस क्या होता है ? आईएएस ऑफिसर कैसे बने ? इस article के माध्यम से हमने आपके सभी सवालों का सही information और answer देने की कोसिस की है.

आशा करता हूँ आईएएस की पूरी जानकारी वाली article आपको जरुर पसंद आएगी. तो चलिए दोस्तों शुरू करते है.

ias officer kaise bane

आईएएस फुल फॉर्म(IAS Full Form in Hindi): भारतीय प्रशासनिक सेवा(Indian Administrative Services), को हम आईएएस, या बस आईएस के रूप में भी जानते है , यह अखिल भारतीय सेवाओं(All India services) की प्रशासनिक शाखा है. यह सेवा भारत की प्रमुख नागरिक सेवा मानी जाती है.

भारतीय प्रशासनिक सेवा(आईएएस) क्या है(What is IAS in Hindi)

भारतीय प्रशासनिक सेवा का संक्षिप्त रूप है आईएएस (IAS), यह आईपीएस, आईएफएस आदि जैसी 24 सेवाओं में प्रतिष्ठित सेवाओं में से एक है, जिसके लिए संघ लोक सेवा आयोग(UPSC) उम्मीदवारों का चयन करने के लिए सिविल सेवा परीक्षा (सीएसई) का आयोजन करती है.

भारतीय प्रशासनिक सेवा में चुने गए अधिकारी को कलेक्टर, सार्वजनिक क्षेत्र के प्रमुखों के प्रमुख, मुख्य सचिव, कैबिनेट सचिव आदि जैसे विविध भूमिकाओं में काम दिया जाता है.

अनुभव और चुनौतियां से भरा आईएएस (IAS) भारत में लाखों युवाओं का अद्वितीय कैरियर विकल्प है.

आईएएस अधिकारी कैसे बनें(How to Become IAS Officer In Hindi)

आईएएस (भारतीय प्रशासनिक सेवा) अखिल भारतीय सेवाओं के तीन हाथों में से एक है. अधिकांश भारतीय 12 वीं/स्नातक होने के बाद आईएएस अधिकारी बनने की कामना करते हैं. इस article पर हमने आईएएस अधिकारी बनने के तरीके के बारे में कदम-दर-चरण(Step-By-Step) प्रक्रिया साझा की है  .

आईएएस भारतीय प्रशासनिक सेवा का चयन यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से किया जाता है. आवेदक जो एक आईएएस अधिकारी बनना चाहते हैं, उन्हें केंद्रीय लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा में भाग लेकर उत्रीर्ण होना पड़ता है.

सिविल सेवा परीक्षा कैसे पास करें(How to Crack UPSC Exam In Hindi)

इस परीक्षा को आम तौर पर दुनिया में सबसे मुश्किल परीक्षा के रूप में जाना जाता है.यूपीएससी आईएएस परीक्षा पास करने के लिए आवेदकों को हार्ड वर्क और अपना पूरा प्रयास करना चाहिए.

हर साल विभिन्न चरणों में आईएएस परीक्षा आयोजित की जाती है जिसमें प्रीलिम्स, मेन और अंतिम साक्षात्कार भी शामिल है.

एक आईएएस एग्जाम क्लियर करने के बाद आईएएस ऑफिसर का पद मिलता है,जिसकी कामना हर कोई करता है.

जिन उम्मीदवारों ने अपनी स्नातक की डिग्री पूरी कर ली है वे आईएएस अधिकारी पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं. आईएएस अधिकारी के उम्मीदवार बनने के लिए, नीचे उल्लिखित चरण आप फॉलो कर सकते है.

आईएएस के लिए योग्यता (Eligibility for IAS in Hindi)

अगर आप भी एक आईएस अधिकारी बनाना चाहते है और देश की सेवा करना चाहते है तो आप में निम्न योग्यता होनी चाहिए:

शैक्षिक योग्यता(Educational Qualification)

आईएएस अधिकारी बनने के पात्र होने के लिए, उम्मीदवार को भारतीय विश्वविद्यालय से एक डिग्री या समकक्ष योग्यता प्राप्त करनी होगी. एक डिग्री पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष में भी प्रारंभिक परीक्षा में प्रदर्शित हो सकते हैं.

आयु सीमा(Age Limit)

  • उम्मीदवार ने परीक्षा के वर्ष के 1 अगस्त को 21 वर्ष की आयु पूरी कर ली हो और उस तारीख को 30 वर्ष की आयु नहीं पूरी हुई हो.
  • ओबीसी उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा 3 वर्ष के लिए छूट दी गयी है और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए 5 वर्ष की छूट दी गयी है.
  • भारत सरकार और रक्षा सेवाओं के तहत काम करने वाले कुछ विशेष कर्मचारियों के लिए भी आयु सीमा में भी छुट होती है.

अन्य पात्रता शर्तें (Other Eligibility Conditions)

आईएएस और आईपीएस के लिए, उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए. अन्य सेवाओं के लिए, एक उम्मीदवार या तो होना चाहिए:

  • भारत का नागरिक, या
  • नेपाल का एक नागरिक, या
  • भूटान का नागरिक, या
  • एक तिब्बती शरणार्थी जो 1 जनवरी, 1962 से पहले भारत में स्थायी रूप से भारत में बसने के इरादे से आया था, या
  • भारतीय मूल के एक व्यक्ति जो स्थायी रूप से भारत में स्थावपत करने के इरादे से पाकिस्तान, बर्मा, श्रीलंका, केन्या के पूर्व अफ्रीकी देशों, युगांडा, संयुक्त गणराज्य तंजानिया, जाम्बिया, मलावी, ज़ैरे, इथियोपिया और वियतनाम से प्रवास कर चुके हैं.

एक आईएएस अधिकारी बनने की प्रक्रिया(Process of Becoming IAS Officer In Hindi)

आईएएस अधिकारी बनने  के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:

चरण 1: आवेदन पत्र(Application Form)

प्रथम चरण में आवेदकों को यूपीएससी की सिविल सर्विसेज परीक्षा की “एप्लिकेशन फॉर्म” की खरीदी करनी होती है, जिसमें “सूचना विवरणिका(Information Brochure)” के साथ पूरे देश में फैले “हेड पोस्ट ऑफिस या पोस्ट ऑफिस”  में भेजना होता है आप यह ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीके से कर सकते है.

चरण 2: प्रारंभिक परीक्षा(Preliminary Examination)

उम्मीदवारों को भारतीय सिविल सेवा “प्रारंभिक परीक्षा(Preliminary examinations)” देनी होगी जो मई या जून के महीने में होता है, अब इसका नाम सिविल सेवा योग्यता परीक्षण(Civil Services Aptitude Test) के रूप में बदल दिया गया है जो कि सीएसएटी(CSAT) में दो पेपर के रूप में शामिल हैं:

पेपर मार्क समय
सामान्य ज्ञान(General Knowledge) 200 2 घंटा
समझ और तार्किक तर्क(Comprehension and logical reasoning) 200 2 घंटा

चरण 3: मुख्य परीक्षा(Main Examination)

“सिविल सर्विसेज एटिट्यूड टेस्ट” में उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवार अंतिम परीक्षा देने के पात्र होते है जिसमे निम्न पेपर होते है:

निबंध प्रकार भारतीय भाषा योग्यता पेपर(Essay type Indian Language Qualifying Paper ) (300 अंक)
अंग्रेजी योग्यता पेपर(English Qualifying Paper) (300 अंक)
जनरल निबंध टाइप पेपर(General Essay type paper) (200 अंक)
सामान्य अध्ययन पेपर(General Studies papers) (300 अंक प्रत्येक)
वैकल्पिक विषय पेपर(Optional subjects papers) (300 अंक प्रत्येक)

चरण 4: साक्षात्कार(Interview)

प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा के बाद आवेदकों को इंटरव्यू एग्जाम में उपस्थित होना होता है. आवेदक के व्यक्तित्व और मानसिक क्षमता का परीक्षण करने के लिए साक्षात्कार परीक्षा ली जाती हैं. इसके बाद सफल उम्मीदवारों की अंतिम सूची तैयार की जाती है.

जो उम्मीदवार बहुत अच्छे रैंक हासिल करते हैं.उन आवेदकों को नामित किया जाता है वे मसूरी के राष्ट्रीय एकेडमी ऑफिस में भर्ती होते है, जिन्हें अब लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन(एलबीएसएनएए) के रूप में जाना जाता है, जो आईएएस परिवीक्षाधीन के लिए मार्गदर्शन को सूचित करता है. प्रशिक्षण के पूरा होने के बाद केंद्रीय और राज्य सरकारों की अपनी-अपनी क्षमता की आवश्यकताओं के अनुसार प्रशिक्षण उम्मीदवारों को पोस्ट किया जाता है.

12वीं के बाद आईएएस अधिकारी कैसे बनें: क्या यह संभव है ?

12वीं कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद, आईएएस अधिकारी बनना संभव नहीं है. एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए, आपको सिविल सर्विस परीक्षा दिलाना होगा जो संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित किया जाता है. प्रशिक्षण के लिए चयनित होने के लिए, आपको प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार के लिए अर्हता प्राप्त करने की आवश्यकता होती है.

आईएएस परीक्षा के लिए जरूरी बुनियादी पात्रता मानदंड – आवेदक एक मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/संस्थान से स्नातक डिग्री पूरी कर ली होनी चाहिए.

इसलिए 12 वीं पास के छात्र इस परीक्षा में भाग नहीं ले सकते.

12वीं को पूरा करने के बाद, उन्हें स्नातक पहले पूरा करना होगा. सीएसई परीक्षा के लिए स्नातक की डिग्री पूरी करने के बाद आईएएस अधिकारी बन सकते है.

आईएएस अधिकारी का वेतन(IAS Officer Salary in Hindi)

भारत सरकार ने सिविल सेवकों के लिए वेतन ग्रेड निर्धारित किया है. लेकिन नए वेतन आयोग के साथ यह बदलाव हो सकता है वर्तमान में विभिन्न स्तरों पर तैयार वेतन की सीमा निम्नानुसार है:

जूनियर अधिकारियों रुपये. 8000-275-13500
वरिष्ठ अधिकारी रुपये. 10650-325-15200
जूनियर प्रशासनिक ग्रेड रुपये. 12,750-375-16,500
चयन ग्रेड रुपये. 15,100-400-18,300
अपर सचिव रुपये. 22400-525-24500
सचिव / कैबिनेट सचिव रुपये. 26,000/30,000

आईएएस अधिकारी के कर्तव्य और जिम्मेदारियां(Duties and Responsibilities of IAS Officer in Hindi)

  • उनके जिले में कार्रवाई करने पर निर्णय लेने के लिए.ड्राइंग बोर्ड पर योजना बनाना और आवश्यकतानुसार उन्हें संशोधित करना.
  • यह आईएएस अधिकारी की जिम्मेदारी है कि सर्वोत्तम नीतियों को लागू किया जाए और नियमों और विनियमों का पालन किया जाए.
  • आईएएस अधिकारियों को भी सार्वजनिक क्षेत्र से लेकर कॉर्पोरेट क्षेत्रों तक की एक विस्तृत श्रृंखला की परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी करनी चाहिए.
  • आईएएस अधिकारी विभिन्न परियोजनाओं के लिए धन आवंटन और उचित उपयोग की निगरानी के लिए ज़िम्मेदार होता हैं.
  • आईएएस अधिकारियों को परियोजनाओं का मूल्यांकन करना चाहिए, अनुशंसा करना और परियोजनाओं के बारे में प्रासंगिक जानकारी प्रदान करना, खासकर संसद के लिए और जब इसके लिए बुलाया जाता है
  • इन सभी नियमित जिम्मेदारियों के अलावा, आईएएस अधिकारी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय मंच पर सार्वजनिक निगमों या संस्थानों के बोर्ड के माध्यम से भारत सरकार का प्रतिनिधित्व करते है.

आईएएस अधिकारी करियर की संभावनाएं(IAS officer Career prospects in Hindi)

अगर आप आईएएस अधिकारी बनते है तब आपकी करियर की कुछ और भी संभावनाएं हो सकती है जो निम्न है:

केंद्रीय स्तर की सेवा के पदनाम और लगने वाला समय राज्य स्तर पर सेवा में पदनाम और लगने वाला समय
अनुसचिव चार वर्ष उप सचिव / अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट सेवाओं का प्रवेश स्तर
उप सचिव 9 वर्ष संयुक्त सचिव / जिला मजिस्ट्रेट / डिप्टी कमिश्नर 6 साल
निदेशक बारह साल विशेष सचिव 9 वर्ष
संयुक्त सचिव 20 साल सचिव 16 वर्ष
अपर सचिव 30 साल प्रधान सचिव / वित्तीय आयुक्त 24 साल
सचिव 34 साल मुख्य सचिव (सर्वोच्च अधिकतम पोस्ट) 30 साल

प्रिय उम्मीदवार! हमें उम्मीद है कि आप आईएएस अधिकारी बनने के बारे में जानकारी से संतुष्ट हैं, जो हमने ऊपर दिया है.

अगर आपको आईएएस क्या है और आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) कैसे बने यह जानकारी अच्छी लगी हो या कोई आपका सवाल या सुझाव हो तो comment के द्वार बताना न भूलें और हां social media में इस article को जरुर share करे.

5 thoughts on “IAS क्या है और आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) कैसे बने पूरी जानकारी”

  1. बहूत ही बढिया जानकारी आपके वेबसाईट प्रादान कर रहा है

    Reply

Leave a Comment